अम्मा कैंटीन की तर्ज पर अन्नपूर्णा रसोई योजना का शुभारंभ, ग़रीबों का पेट भरना है संकल्प


Annapurna Rasoi Yojana के तहत खास वैन्स के ज़रिए अलग-अलग जगहों पर खाना उपलब्ध कराया जाएगा। इस काम के लिए फिलहाल 80 वैन्स लगाए गए हैं। योजना को 12 जिलों के डिविजनल हेडक्वार्टर में प्रारम्भ किया गया है। इसके तहत पूरे राज्य में सुविधा का लाभ देने का प्रयास किया जाएगा। आने वाले समय में जयपुर में ऐसी 25 वैन्स होंगी; वहीं, झालावार में 6, जोधपुर, उदयपुर, अजमेर, कोटा, बिकानेर और भरतपुर में 5-5 वैन्स होंगी। इसके अलावा डुंगरपुर और बंसवाड़ा में 4 वैन्स होंगी। साथ ही प्रतापगढ़ तथा बैरन में क्रमशः 3-3 वैन्स लगाई जाएंगी।

 

500 रुपये से भी कम में पाएं ब्रांडेड टी-शर्ट्स

 

Annapurna Rasoi Yojana


 

Annapurna Rasoi Yojana में जहां ग़रीबों का पेट भरने का संकल्प लिया गया है; वहीं, भोजन पकाने से लेकर परोसे जाने तक भोजन की गुणवत्ता से लेकर साफ़-सफाई पर भी ख़ासा ज़ोर डाला गया है। खाना बनाने और परोसने का काम करने के लिए ट्रेनिंग ले चुके कर्मचारियों को रखा गया है। वैन के आसपास बैठने की व्यवस्था तो होगी ही, साथ ही काम करने वाला स्टाफ दस्ताने, टोपी और एप्रन समेत पूरी यूनिफॉर्म पहने होगा। एक अधिकारी ने बताया कि सरकार को नाश्ते का खर्च 21.70 रुपए और खाने का खर्च 23.70 रुपए आएगा, जो आम लोगों को 5 और 8 रुपए में दिया जाएगा, बाकी कीमत पर सब्सिडी मिलेगी।

 

अब खरीदें पतंजलि के सारे प्रोडक्ट्स आसानी से

 

Annapurna Rasoi Yojana

 

Annapurna Rasoi Yojana पर आम लोगों का कहना है कि गर्म एवं अच्छी गुणवत्ता वाला कम कीमत में खाने को मिल रहा है। इससे अच्छा और क्या हो सकता है।

 

केवल एक हज़ार रूपए से शुरू हैं यह मोबाइल फोन्स

PrevPage 2 of 2Next post

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *